प्रथम ‘पद्मश्री डॉ. राम दयाल मुण्डा राष्ट्रीय आदिवासी साहित्य अखड़ा सम्मान’ उज्जवला ज्योति तिग्गा को

akhra_mahasammelan2013_programer

झारखण्डी भाषा साहित्य संस्कृति अखड़ा की ओर से महासम्मेलन के अवसर पर झारखण्डी भाषाओं के 22 साहित्यकारों को ‘अखड़ा साहित्य सम्मान’ दिया जाता है. इस महासम्मेलन से पद्मश्री डॉ. राम दयाल मुण्डा की स्मृति में एक और सम्मान देने देने का निर्णय हुआ है. यह सम्मान झारखण्ड से बाहर रह रहे या अन्य राज्य के किसी एक आदिवासी रचनाकार को उनके उत्कृष्ट आदिवासी अभिव्यक्ति के लिए प्रदान किया जाएगा.

प्रथम ‘पद्मश्री डॉ. राम दयाल मुण्डा राष्ट्रीय आदिवासी साहित्य अखड़ा सम्मान’ अखड़ा की चयन समिति ने दिल्ली स्थित आदिवासी कवयित्री एवं रचनाकार उज्जवला ज्योति तिग्गा को प्रदान करने का निर्णय किया है.

‘पद्मश्री डॉ. राम दयाल मुण्डा राष्ट्रीय आदिवासी साहित्य अखड़ा सम्मान’ अलंकरण 7-8 सितंबर 2013 को रांची में आयोजित झारखण्डी भाषा साहित्य संस्कृति अखड़ा के तीसरे महासम्मेलन के उद्घाटन समारोह में उज्जवला ज्योति तिग्गा को प्रदान किया जाएगा.

डॉ. तारकेलेंग कुल्लू
चयन समिति की ओर से
झारखण्डी भाषा साहित्य संस्कृति अखड़ा
रांची (झारखण्ड)

पद्मश्री डॉ. राम दयाल मुण्डा राष्ट्रीय आदिवासी साहित्य सम्मान की तस्वीरें देखें

रासबिहारी मंडल-श्रीमतीबाला मंडल स्मृति स्कॉलरशिप

झारखंडी अखड़ा साहित्य सम्मान 2013